1600 मीटर दौड़ के तरीके

1600 मीटर दौड़ के तरीके




 1600 मीटर दौड़ के तरीके➤ आज हम आपको आर्मी के लिए 1600 मीटर दोड़ के बारे मे ही नहीं बल्कि हर फिजिकल टेस्ट के लिए दोड़ लगाने का तरीका बताएँगे तो आइए जानते है दोड़ लगाने से पहले आपको ध्यान देना होगा कि आपके पास अच्छे जूते होने चाहिए । जिससे दोड़ते समय आपको कोंफेटेबल फील हो सके ओर आपके पैरो मे कोई हानी न पहुंचे इसके साथ आपको दोड़ते समय कुछ एसे कपड़े पहनने चाहिए जो कि आपको दोड़ते समय बिलकुल भी परेशानी न हो इससे आपकी दोड़ बहुत प्रभावित होती है ।आपको कभी भी नंगे पैर नहीं दोड़ना चाहिए इससे आपको पैरो मे चोट लगने का खतरा बढ़ जाता है ओर आपके टाँगो मे दर्द भी हो सकता है ।

दोड़ की सही शुरुआत ➤ आपको दौड़ लगाने से पहले दौड़ की सही शुरुआत करना जरूरी होता है क्योंकि अगर आप सही शुरुआत नहीं करते हो तो या तो आप दोड़ खतम होने से पहले ही थक जाओगे जिससे कारण आप लास्ट मे बूस्ट नहीं कर पाओगे या दोड़ पूरी नहीं लगेगी। तो आपको दोड़ की शुरुआत सही से करनी है ।

वार्म अप करना या दोड़ के लिए तैयार होना ➤वार्म अप आपको दोड़ लगाने से पहले जरूर करना चाहिए इसके लिए आप आराम आराम से 2-3 मीनट तक दोड़ सकते है ओर कई प्रकार की एक्सर्साइज़ आप वार्म अप करने के लिए कर सकते है वार्म अप हमारे लिए बहुत जरूरी होता है इससे दोड़ लगाते समय सांस कम फूलती है । ओर इससे आप दोड़ लगाने के लिए तयार हो जाते है ।

टार्गेट ➤दोड़ते समय आपको किसी भी चीज के बारे मे नहीं सोचना है बस अपने टार्गेट को ध्यान मे रखना है । अगर आप एसा करते है तो आपका दिमाग ओर शरीर एक साथ कार्य करते है बस अपने टार्गेट को ध्यान मे रख कर दोड़ना है ओर किसी चीज के बारे मे नहीं सोचना है । अगर आप किसी ओर चीज के बारे मे सोचते है तो आपका दिमाग डिस्टर्ब हो जाता है जिसके कारण आप सही से नहीं दोड़ पाओगे ।

सही खान पान➤ अगर आप दोड़ की तैयारी कर रहे हो तो आपको सही खान पान का सेवन करना चाहिए आपको तले हुये पदार्थों का सेवन नहीं करना चाहिए । फास्टफूड का सेवन नहीं करना चाहिए । आपको प्रोटीन,कार्बोहाइड्रेट, वसा का अधिक सेवन करना चाहिए । आपको अंकुरित भोजन दोड़ मे बहुत लाभ देगा आप अंकुरित चनों का उपयोग हर रोज करें । एक बात ओर आपको नशे का सेवन भी नहीं करना है । यह आपको कमजोर बनाता है । दोड़ते वक्त आप अपनी साँसों पर नियंत्रण नहीं रख पाओगे ।

टाइम ➤दोड़ते समय आप अपने पास एस छोटी घड़ी रखें इससे आपको अपना दोड़ का समय पता लगता रहेगा ओर आप टाइम कम करने मे मेहनत कर पाओगे । आपको टाइम हर रोज मापना चाहिए ।

बूस्ट ➤ आपको दोड़ के 100 या 200 मीटर रहने पर बूस्ट करना है । ओर अपने टार्गेट को ध्यान मे रखना है । 
स्प्रिंट ➤ हर दोड़ के बाद आपको 400 या 500 मीटर की स्प्रिंट जरूर लगानी चाहिए ये आपके दौड़ को इंप्रूव करता है ।हर लंबी दौड़ के बाद सप्रिंट जरूर लगाएँ।

स्टेमिना ➤ दोड़ के लिए स्टेमिना बहुत जरूरी होता है आप अपना स्टेमिना बढ़ाने के लिए केवल दौड़ के उपर ही निर्भर न रहे इसके लिए आप स्टेमिना बढ़ाने वाले एक्सर्साइज़ जरूर करें ।
 धन्यावाद।

  1. 1600 मीटर कितना होता है 
  2. 100 मीटर दौड़ के तरीके 
  3. 1600 मीटर वर्ल्ड रिकॉर्ड 
  4. दौड़ कैसे बनाये 
  5. 400 मीटर दौड़ के तरीके 
  6. आर्मी की दौड़ कितने मिनट की होती है 
  7. 5000 मीटर दौड़ के तरीके
  8. आर्मी की दौड़ कैसे होती है 
Previous
Next Post »