Breaking

 



loading...

Monday, 10 August 2020

neem ke fayde in hindi । नीम के क्या क्या फायदे है ।

neem ke fayde in hindi । नीम के क्या क्या फायदे है ।

आज हम आपको neem ke fayde in hindi बताएँगे जैसा की आप जानते है नीम बहुत 
सी ओषधियों वाला पेड़ होता है ओर इसका इस्तेमाल आयुर्वेद मे भी किया जाता नीम बहुत ही गुणकारी होता है। नीम मे ऐसे गुण पाये जाते है जो बैक्ट्रिया, वाइरस, डाइबटीज ओर बहुत सी बीमारियों को खत्म करता है। भले ही इसका स्वाद कड़वा होता है पर बहुत ही लाभकारी होता है। इसका उपयोग आयुर्वेदिक दवाइयाँ बनाने के लिए भी किया जाता है। यही एक एस वृक्ष है जिसके फल, पत्ते, टहनी ओर झाल का उपयोग किया जाता है।
इसमे लगाने वाले छोटे छोटे फलों को निंबोली कहा जाता है जो पकाने के बाद बहुत मीठी लगती है,
इसे खाने के बहुत से फायदे होते है। नीम को ओषधीय जड़ी बूटी माना जाता है। इसे संस्कृत मे अरिष्टा कहा जाता है। जैसा हिन्दी मे अर्थ होता है 'बीमारियों से राहत पाना' इसके अलावा क्या आप जानते है की नीम के पेड़ की ऊंचाई लगभग 75 फीट तक बढ़ सकती है। नीम वैसे तो अंटोर पर उशंकटिबंधीय ओर उपोष्णकटिबंधीय इलाको मे पाया जाता है। नीम के पेड़ का उपयोग जलन, फंगल इन्फ़ैकशन,त्वचारोग, घावों को ठीक करता है।
यहाँ तक कि नीम के तेल, शैंपू, साबुन, लोशन, आदि बनाए जाते है। यह मच्छर भगाने के लिए भी उपयोग किया जाता है। तो आइए जानते है नीम के क्या क्या फायदे हमे हो सकते है।
neem ke fayde in hindi
neem ke fayde in hindi 


त्वचा ओर बालों के लिए neem ke fayde in hindi

अगर आपको त्वचा रोग है। या कील मुहासे है तो आप नीम का उपयोग कर सकते है नीम का उपयोग करने से त्वचा रोगो से राहत मिलती है। नीम के पत्ते पनि मे उबाल कर नहाने से आपको शरीर कि त्वचा मे हुये घमोरियों से भी राहत मिलती है ओर दूसरे त्वचा संबधि रोग भी ठीक होते है। त्वचा के साथ साथ यह बालों के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। बालों मे नीम के पत्तों का पेस्ट बनाकर लगाने से ओर बाद मे नीम का तेल लगाने से डैंड्रफ खतम हो जाता है ओर बल झड़ने के समस्या भी खतम हो जाती है।

चेहरे पर मुहासे ओर दाग मे neem ke fayde in hindi

चेहरे पर मुहासे, दाग ओर कील होने पर नीम के पत्तों को चबा कर खाने से कील मुहासे कुछ ही समय मे दूर हो जाते है। नीम का तेल भी आप चेहरे पर लगा सकता है ओर अगर नीम के तेल मे हल्दी मिला कर लगते है तो ज्यादा फायदा होता है।

दांतों के लिए neem ke fayde in hindi

नीम की दातुन दांतों के लिए बहुत लाभकारी होती है नीम की लगातार दातुन करने से दांतों मे सड़न नहीं होगी।
दांतों का पीलापन दूर होता है ओर दांत सफ़ेद रहते है। नीम के दातुन से मसूड़े भी स्वस्थ रहते है ओर मुह क्के बेक्टीरिया भी खतम होते है मुह से आने वाली बदबू भी दूर होती है ।नियमित रूप से दातुन करने से हमरे मुह' मे होने वाले छालों को ठीक करती है । अगर आपको मुह के छाले बार बार हो जाते है तो आपको नियमित रूप से दतून करनी चाहिए। नीम की दातुन आप दिन मे दो बार कर सकते है।

बुखार मे neem ke fayde in hindi

बुखार या कोई वाइरल इन्फैक्सन होने पर नीम के पते ओर नीम की झाल कम आती है। नीम की झाल ओर पतों को उबाल कर उसका काढ़ा बनाकर दिन मे 3 बार पीने से बुखार ओर वाइरल इन्फैक्सन दूर हो जाता है ओर इमुनिटी बढ़ती है। नीम के पानी मे नहाने से भी बुखार ओर वाइरल इन्फैक्सन ठीक होता है।

जलने पर neem ke fayde in hindi

अगर आपका कोई अंग जल गया है तो नीम बहुत फायदेमंद होता है। जले हुये अंग को पानी से साफ करने के बाद उसपर नीम के पतों का लेप लगा दे ज़ख़म बहुत जल्दी ठीक होने लगेगा ओर बाद मे आप नीम का तेल भी लगा सकते है ।

पीलिया हो जाने पर neem ke fayde in hindi 

पीलिया हो जाने पर नीम बहुत फायदे मंद होता है नीम पीलिया होने पर एंटीबायोटिक ओर वैक्सीन से बेहतर कम करता है। नीम के पत्तों को पानी मे उबाल कर पानी को छानने के बाद उसमे सौंठ ओर हल्दी मिलकर सेवन करने से पीलिया कुछ ही समय मे चला जाता है। यह खांसी ओर दमे के लिए भी भूत फायदे मंद माना जाता है बस आपको नीम का इसी प्रकार सेवन करना है।

पेट मे कीड़े हो जाने पर neem ke fayde in hindi

पेट मे कीड़े होने पर भी नीम लाभकारी है। पेट मे कीड़े होने पर नीम का तेल एक दिन छोड़कर पीना चाहिए इससे पेट के कीड़े मर जाते है ओर पाचन क्रिया भी स्वस्थ रहती है। पेट के दर्द मे भी नीम बहुत फायदेमंद होता है। 15g नीम के बीज, 15gतुलसी की पत्तियाँ, 15gसौंठ, 15gकाली मिर्च के दाने मिलकर पीसकर दिन मे तीन बार खाने से पेट दर्द कम हो जाता है।

सिर मे जूं हो जाने पर  neem ke fayde in hindi

सिर मे जूं होने पर नीम का सेवन लाभदायक है ज्यादातर बच्चों के सिर मे जूं हो जाती है। नीम का तेल सिर मे नहाने से लगभग आधा घंटा पहले लगाने से ओर नहाने के बाद कंघी करने से जूं मार्के बाहर निकाल जाती है ओर सिर मे खारिश होने की समस्या भी नहीं होती है।

फोड़े फुंसी मे neem ke fayde in hindi

अगर आपका खून खराब हो तो आपको अक्सर फोड़े फुंसी होते रहते है। नीम के तेल का उपयोग 4-5 बूंद सेवन  करने से आपका खून 1-2 महीने के अंदर खून साफ हो जाता है। जिससे फोड़े फुंसी की समस्या नहीं होती है।

मलेरिया मे neem ke fayde in hindi

एक अध्ययन मे पता चला है की नीम के पते का सेवन करे से मलेरिया मे राहत मिलती है। नीम के पत्तों का रोज सेवन करना चाहिए कम से कम 6-7 पत्ते हर रोज खाने चाहिए।

शुगर के मरीजों के लिए neem ke fayde in hindi

नीम के रस को पीने से बढ़ी हुई शुगर को कंट्रोल किया जा सकता है। शुगर के मरीजों को हफ्ते मे कम से कम 3 बार नीम का रस पीना चाहिए। इसलिए शुगर के मरीजों के लिए नीम बहुत फायदेमंद होता है।

मक्खी मच्छर भागने लिए neem ke fayde in hindi

मक्खी मच्छर भागने के लिए भी नीम का उपयोग किया जाता है। नीम के पत्तों का धुआँ करने पर दूर दूर तक मक्खी मच्छर भाग जाते है । इसके तेल का दिया भी जलाया जा सकता है यह भी मक्खी मच्छर भगाने मे लाभदायक होता है।

नीम का उपयोग करने का तरीका

त्वचा ओर चर्म रोग के लिए 

  • नीम के पत्तों को पानी मे उबाल कर ओर ठंडा करें इसके बाद आप इस पानी मे नहा सकते है जिससे आपको चर्म रोग से छुटकारा मिलता है। नीम के तेल का इस्तमल आप चेहरे के कील मुहासे को दूर करने के लिए कर सकते है।
  • नीम के पत्तों को पीस कर उसे आप चेहरे पर सोते समय लगा ले इससे भी कील मुहासे दूर होते है ।

बालों के लिए 

  • बालों मे जूं होने पर नहाने से 30 मिनट पहले बालों मे तेल लगा लें फिर नाहा ले । इसके बाद आप बालों मे कंघी करें । इससे बालों मे मारी हुई जूं निकाल जाएगी।
  • नीम के पत्तों का पेस्ट बना कर सिर मे लगाने से बाल नहीं झड़ते ओर काले बने रहते है।
  • सिर मे खरिश होने पर आप इसका तेल लगा लें।

जूस 


  • नीम का जूस  बनाने के लिए आप नीम के पतों का उस करें पत्तों को बारीक पीस कर इसका जूस बनाया जा सकता है।
  • नीम को उबाल कर पानी से इसके पत्तों को छान कर रख ले ओर आप इसे पी भी सकते है।

नीम को उपयोग करते समय सावधानियाँ

नीम का उपयोग छोटे बच्चो ओर शिशुओं को नहीं करना चाहिए। पर इसे सामान्य रूप से लेने पर इसके कोई दुष्प्रभाव भी नहीं है। नीम का उपयोग गर्भ धारण की कोशिश करने वाली महिलाओं के लिए सुरक्षित नहीं है।
नीम के तेल को आंतरिक रूप से कभी न लें ।
आपने जाना की नीम के कितने फायदे है नीम को आप हर रोज परयोग कर सकते है। 
अगर आपको जानकारी पसंद आयी हो तो आप ज्यादा जानने के लिए यहा देख सकते है

    No comments:

    Post a comment