रोगों से बचने के लिए काढ़ा कैसे बनाया जाता है?

काढ़ा कैसे बनाया जाता है

 

रोगों से बचने के लिए काढ़ा कैसे बनाया जाता है? (How is decoction made to prevent diseases?)

काढ़ा कैसे बनाया जाता है➡️ काढ़ा एक ऐसी आयुर्वेदिक दवाई होती है। जो लगभग सभी रोगों से लड़ने मे आपकी सहायता करती है ओर उन्हे दूर करने का कार्य भी करती है। आज के समय जैसी बीमारियों मे काढ़ा सबसे लाभदायक माना जाता है। काढ़े का सेवन लगभग हर व्यक्ति कर सकता है।

काढ़े का सेवन हमारे समाज मे प्राचीन कल से बीमारियों से बचाव के लिए करते आए है। पर आज की मोर्डन साइंस द्वारा तयार द्वाईयों के चक्कर मे हम सब इस गुणकारी दवा को भूल गए है। पर मोर्डन साइंस ने भी यह साबित किया है कि काढ़ा हमे बहुत सी जानलेवा बीमारियों से बचा सकता है।

काढ़ा कई प्रकार से तयार किया जा सकता है। आप इसे जैसे चाहे वैसे ही बना सकते हैं। इसमे डलने वाली हर चीज आसानी से मिल जाती है।

काढ़े से डाइबटीज, बुखार, जुखाम, खाँसी, मोसमी वाइरल ओर अन्य बीमारियों को बड़ी ही आसानी से ठीक किया जा सकता है। काढ़ा कैसे बनाया जाता है यह बहुत से लोगों का सवाल होता है। 

पर यह बनाना इतना आसान होता है कि इसे कोई भी कभी भी आसानी से बना सकता है। बस आपको इसकी सही विधि ओर इसमे पड़ने वाली सामाग्री के बारे मे जानकारी होनी चाहिए। काढ़ा का सेवन सर्दियों मे करना बहुत लाभकारी माना जाता है क्योंकि इससे ठंड भी कम लगती है।

आइए जानते हैं काढ़ा बनाने की विधि के बारे मे।


    निम्न काढा बनाने की विधियाँ (Decoction methods)

    • तुलसी का काढ़ा कैसे बनाया जाता है? 
    • गिलोय का काढ़ा कैसे बनाया जाता है? 
    • अदरक का काढ़ा कैसे बनाया जाता है? 
    • अजवाइन का काढ़ा कैसे बनाया जाता है?

    तुलसी का काढ़ा कैसे बनाया जाता है? (How to make Tulsi decoction?)

    तुलसी का काढ़ा बनाने के लिए सामग्री
    • तुलसी के पत्ते 5-6 
    • लोंग 1 
    • इलाइचि 2-3
    •  मिठास के लिए गुड या शहद
    • काली मिर्च 
    • दालचीनी का एक टुकड़ा पीस कर 

    तुलसी का काढ़ा बनाने की विधि 
    • सबसे पहले 2-3 कप पानी के रख लें। 
    • पानी को हल्का सा गरम करके उसमे तुलसी के पत्ते, लोंग पीस कर, इलाइचि कूट कर, काली मिर्च कूट कर, दालचीनी कूट कर,  बाद मे गुड या शहद मिला लें।
    • इन सबको अच्छी तरीके से उबाल लें।
    • बस आपका तुलसी का काढ़ा तयार है।
    • इसको हल्का गरम ही पीना चाहिए। इसे केवल द्वाई के तौर पर ही पिये इसके अधिक सेवन से बचें।

    गिलोय का काढ़ा कैसे बनाया जाता है? (How to make Giloy decoction)

     गिलोय का काढ़ा बनाने के लिए सामग्री
    • गिलोय की बेल के टुकड़े 
    • गुड या शहद 
    • तुलसी अगर हो तो
    • इलाइचि 2-3
    • लोंग 1 
    • दालचीनी

    गिलोय का काढ़ा बनाने की विधि 
    • सबसे पहले पानी को हल्का गरम कर लें।
    • इसके बाद आप इसमे गिलोय की बेल के टुकड़े को कूट लें, तुलसी के पत्ते अगर हों तो डाल दें नहीं तो रहने दें, इलाइचि को भी कूट लें, लोंग को भी लूट लें तथा दालचीनी को भी कूट लें।
    • यह सब पानी मे डालकर लगभग 15-20 मिनट ढक कर उबालें। 
    • ठंडा होने पर पी ले। 

    अदरक का काढ़ा कैसे बनाया जाता है? (How to make ginger decoction?)

    अदरक का काढ़ा बनाने की सामग्री
    • अदरक 
    • ईलाईची 
    • लोंग 1 
    • तुलसी 5-6 पत्ते
    • दालचीनी
    • गुड या शहद
    • गिलोय अगर हो तो 
    • काली मिर्च 

    अदरक का काढ़ा बनाने की विधि 
    • अदरक को लोंग, इलाइचि, दालचीनी, गिलोय अगर हो, काली मिर्च के साथ मिलकर कूट लें।
    • 2-3 कप पानी को हल्का गरम करके उबाल लें।
    • पानी मे सब सामग्री डाल दें।
    • ओर अच्छे से उबालें। ठंडा होने पर आप इसका सेवन कर सकते है।

    अजवाइन का काढ़ा कैसे बनाया जाता है? (How to make celery decoction?)

    अजवाइन का काढ़ा बनाने के लिए सामग्री
    • अजवाइन
    • इलाइचि 2-3 
    • लोंग 1 
    • दालचीनी
    • तुलसी के पत्ते अगर हों 
    • गिलोय अगर हो
    • काली मिर्च
    • गुड या शहद 
    अजवाइन का काढ़ा बनाने की विधि 
    • अजवाइन का काढ़ा बनाने के लिए सबसे पहले 2-3 कप पानी को हल्का गरम करके सब को कूट कर पानी मे डाल लें।
    • गुड शहद को बाद मे डालें ओर अच्छी तरीके से लगभग 15-20 मिनट उबालें।
    • काढ़े को ठंडा होने पर सेवन कर लें।

    काढ़ा पीने के फ़ायदे

    काढ़ा पीने के फ़ायदों के बारे मे जानकारी के लिए वीडियो देखें 

    सावधानियाँ (Precautions)

    • काढ़े का अधिक सेवन न करें। सिर्फ दवाई के रूप मे इसका सेवन करें 
    • गर्मी मे काढ़े का सेवन कम करना चाहिए।
    • ज्यादा काढ़े के सेवन से पेट मे गर्मी ओर सिने मे जलन हो सकती है।

    अगर आपको काढ़ा कैसे बनाया जाता है जानकारी पसंद आयी हो तो साइड मे लगा लाइक का बटन दबाएँ।
    किसी भी प्रकार की जानकारी के लिए आप हमे कॉमेंट कर सकते है। 
    Previous
    Next Post »